Results 1 to 1 of 1
  1. #1
    Senior Member www.desirulez.net
    Join Date
    Nov 2011
    Location
    = Heaven =
    Posts
    145

    Default |:| पंचायत की बधाई / Panchayat Ki Badhayi |:|

    Follow us on Social Media





    Kankhiyon se dekh liya jab usane
    Bijali kaundh padi aur gadgadayi
    Mohabbat ki hawa kya chali tab
    Toot pada badan aayi ek angdayi

    [HIDE]Na kabhi socha na koshish hi ki
    Ritu machalkar aaj yun chali aayi
    Mere khayal me aane lagi baatein kayi
    Dil ne dimag me phir panchayat lagayi

    Ek vichar bola jaat me hai fark
    Duje ne kaha bhasha yahan ubhar aayi
    Tisare ne kaha umr me hai fark bahut
    Chauthe ne kaha na hone denge hum sagayi

    Sarpanch dil ne kaha gaya eo zamana
    Ab to dil apna aur preet parayi
    Do dilon ko judane se na roke koyi
    mast ho jio panchayat ki badhayi.

    कनखियों ले देख लिया जब उसने
    बिजली कौंध पड़ी और गड़गड़ाई
    मोहब्बत की हवा क्या चली तब
    टूट पड़ा बदन आई एक अंगड़ाई

    ना कभी सोचा ना कोशिश ही की
    ऋतु मचलकर आज यूँ चली आई
    मेरे खयाल में आने लगी बातें कई
    दिल ने दिमाग में पंचायत लगाई

    एक विचार बोला जाति में है फर्क
    दूजे ने भाषा का समस्या बतलाई
    तीसरे ने कहा उम्र में है फर्क बहुत
    चौथे ने कहा ना होने देंगे हम सगाई

    सरपंच दिल ने कहा गया वह ज़माना
    अब तो दिल अपना और प्रीत पराई
    दो दिलों को जुड़ने से ना रोके कोई
    मस्त हो जिओ पंचायत की बधाई.

 

 

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •